रेलवे कर्मचारियों की छुट्टी को लेकर बड़ा आदेश जारी – त्यौहार पर छुट्टी का बहाना नहीं चलेगा, करनी होगी ड्यूटी

Written by Subham Morya

Published on:

हमें फॉलो करें:

Employee Holiday on Festival: झारखंड रेलवे कर्मचारियों के लिए एक बहुत बड़ी खबर है। दशहरे से पहले रेलवे ने कर्मचारियों की छुट्टियों को लेकर बड़ा फैसला किया है। रेलवे कर्मचारियों को अब प्राइवेट मेडिकल सर्टिफिकेट (PCM) के आधार पर छुट्टी नहीं मिलेगी। यह व्यवस्था रेलवे की तरफ से आने वाली 31 दिसंबर 2023 तक लागू रहेगी। इस मामले को लेकर चक्रधरपुर मंडल की ओर से आधिकारिक आदेश जारी कर दिया गया है । इस आदेश के बाद अब रेलवे के कर्मचारियों की मुश्किलें बढ़ने वाली है।

रेलवे के इस नए निर्देश के पीछे का कारण

त्योहारी सीज़न के दौरान, रेलवे कर्मचारी आमतौर पर दुर्गा पूजा, दिवाली और छठ जैसे त्योहारों के लिए छुट्टी के लिए आवेदन करते हैं। जिन लोगों को छुट्टी मिल जाती है वे अपने परिवार के साथ जश्न मनाते हुए समय बिताते हैं, जबकि जिन लोगों को छुट्टी नहीं मिलती है वे अक्सर छुट्टी लेने के लिए बीमारी का दावा करने लगते हैं। अब ऐसे में ये सभी कर्मचारी जब छुट्टी करने के बाद वापस ड्यूटी पर आते है तो किसी भी प्राइवेट हॉस्पिटल से अपना बीमारी का मेडिकल बनवाकर जमा करवा दे ते है की मैं बीमार हो गया था और इतने दिन तक इलाज चलता रहा इस वजह से ड्यूटी नहीं आ रहा था और छुट्टी ले रखी थी। ऐसे में रेलवे की तरफ से कहा जा रहा है की कर्मचारियों के ऐसा करने से रेलों के सञ्चालन में समस्या उत्पन्न होती है और रेलवे की तरफ से अब ये नए नियम लागु कर दिए गए है। चक्रधरपुर मंडल ने ट्रेनों के सुचारू परिचालन को सुनिश्चित करने के लिए यह आदेश जारी किया है।

रेलवे की तरफ से क्या आदेश आया है

रेलवे प्रशासन ने एक आदेश जारी कर ऐसे किसी भी निजी मेडिकल सर्टिफिकेट को स्वीकार करने पर 31 दिसंबर तक रोक लगा दी है। कर्मचारी अब छुट्टी पाने के लिए बीमारी को बहाना नहीं बना सकेंगे। लेकिन यहाँ एक बात तो तय है की अब इन सभी कर्मचारियों की मुश्किलें बढ़ने वाली है और इनका त्यौहार अब रेलवे की ड्यूटी के दौरान ही बीतेगा। रेलवे की तरफ से आगे खठा गया है की यदि कोई कर्मचारी इस निर्दिष्ट अवधि के दौरान वास्तव में बीमार पड़ता है, तो उन्हें रेलवे अस्पताल में इलाज कराना होगा और अस्पताल के डॉक्टर द्वारा दी गई सलाह का पालन करना होगा। इसके बाद, उन्हें रेलवे अस्पताल द्वारा जारी प्रमाण पत्र रेलवे को प्रस्तुत करना होगा। गौरतलब है कि यह आदेश चक्रधरपुर मंडल के करीब 5200 कर्मचारियों पर लागू होगा।

Subham Morya

मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।

For Feedback - nflspice@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Leave a Comment