फ्री राशन वितरण को लेकर केंद्र सरकार का बड़ा आदेश, 5 साल बढ़ाया स्कीम को, इन लोगों को मिलेगा लाभ

Written by Subham Morya

Published on:

नई दिल्ली: देश के गरीब परिवारों को मुफ्त में राशन देने के लिए सरकार की तरफ से एक योजना को चलाया जा रहा है जिसका नाम है प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) और आस योजना को लेकर केंद्र सरकार की तरफ से देश के सभी राज्यों की सरकार को एक बड़ा आदेश जारी किया गया है।

5 साल बढ़ाया योजना को

सरकार की तरफ से चलाई जा रही इस योजना को शुरू करने के समय 31 दिसंबर 2023 तक इसको चलाया गया था और इसी दिसंबर में इस योजना के समाप्त होने की तारीख है। लेकिन केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को आदेश जारी करके प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) की तिथि को और पांच साल के लिए आगे बढ़ा दिया है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) की तारीख के आगे बढ़ने से अब देश के गरीब परिवार जो इस योजना का लाभ ले रहे थे उन सबको आगे भी पांच साल तक फ्री में राशन मिलता रहेगा।

फाइनेंसियल एक्सप्रेस में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार देश के खाद्य मंत्रालय की तरफ से एफसीआई को एक आदेश जारी किया गया है जिसमे कहा गया है की सभी राज्यों में अगले आदेश तक खाद्यान्न का निशुल्क वितरण राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को करते रहें।

15000 करोड़ का अतिरक्त खर्चा

नेशनल फूड सिक्योरिटी एक्ट (NFSA) की तरफ से इस योजना के बढ़ने के बाद में लगभग 15000 करोड़ का अतिरिक्त खर्चा आने वाला है। आपको बता दें की इस योजना के तहत मिलने वाले राशन पर सरकार की तरफ से सब्सिडी दी जाती है और इस योजना को और आगे ऐसे ही चलने के लिए लगभग 11 लाख करोड़ रुपये की जरुरत सरकार को पड़ने वाली है।

इस योजना को सरकार की तरफ से साल 2020 में शुरू किया गया था और उस समय कोरोना महामारी चल रही थी। इस योजना के जरिये सरकार की तरफ से गरीब परिवारों को 5 किलोग्राम राशन मुफ्त में दिया जाता है।

Subham Morya

मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।

For Feedback - nflspice@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

आपकी पसंद की ख़बरें

Leave a Comment