फसलों को पाले से कैसे बचायें – सर्दियों में पाला पड़ना क्या होता है? देखिये रोकथाम के पुरे उपाय

Written by Subham Morya

Published on:

नई दिल्ली: आपने ठंड के मौसम में कई बार सुना होगा, कि पाला पड़ रहा है, लेकिन आखिर यह पाला क्या होता है और कैसे आप इससे अपने खेतों का बचाव कर सकते हैं। आमतौर पर पाला तब पड़ता है, जब तापमान Zero Degree Celcius या माइनस में चला जाता है, इसलिए जो जलवाष्प होता है, वह पूरी तरह से जम जाता है और इसी को लोग पाल पड़ना कहते हैं।

पाला जब गिरता है तो किसानो की फसलों के लिए ये काफी नुकसान दायक होता है और सबसे जायदा नुकसान किसानों की सरसों की फसल में इससे होता है। सरसों की फसल पाले को लेकर काफी संवेदनशील होती है और इससे फसल में पैदावार लगभग ख़त्म ही हो जाती है इसलिए किसानो को इससे बहाने के बारे में पूरी जानकारी होनी बहुत जरुरी होती है।

जब सभी पेड़ पौधों अथवा घरों के आसपास बर्फ जैसा दिखने लगता है, तो उसी को पाला पड़ना कहते हैं, वैसे पाला खासतौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में ही पड़ता है, क्योंकि वहां पर पेड़ पौधे अधिक होते हैं, जबकि शहरी क्षेत्र में पेड़ पौधे उतनी अधिक संख्या में नहीं होते हैं, इसलिए ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को अधिक नुकसान होता है, क्योंकि वहां पर खेत पर अधिक होते हैं, जिससे खेतों को भी नुकसान होता है। तो आइए अब जानते हैं, कि आप किस प्रकार से अपने खेतों का बचाव कर सकते हैं

पाले से खेतों को बचाने के लिए अपनाएं यह उपाय

अपने फसलों को बचाने के लिए आप प्लास्टिक की चादर से अपने खेत को ढक सकते हैं अथवा यदि आपका खेत बहुत बड़ा है, तो आप एक तंबू लगाकर चारों तरफ से उसकी सुरक्षा कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपने फसलों की सिंचाई कर सकते हैं, क्योंकि सिंचाई करने से तापमान बढ़ता है और पाला लगने की संभावना कम हो जाती है, आपको अपने खेत में सही बीज का इस्तेमाल करना चाहिए, जिससे पाला लगने की संभावना कम हो जाए।

पाला पड़ने से खेतों को क्या नुकसान हो सकता है?

  • पाला पड़ने से पत्तियां सुख सकती है तथा फल एवं फूल को नुकसान पहुंच सकता है।
  • पाला का असर खास तौर पर ठंड में अधिक देखने को मिलता है, क्योंकि जैसे उसका तापमान गिरता है, वैसे-वैसे पाला शुरू हो जाता है, खासतौर पर हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में इसका असर देखने को अधिक मिलता है, क्योंकि वह पहाड़ी इलाके हैं और वहां पर तापमान कई बार जीरो डिग्री सेल्सियस पर भी चला जाता है।
  • इस आर्टिकल में बताए गए तरीकों का इस्तेमाल करके आप अपने खेतों की सुरक्षा कर सकते हैं और ठंड के मौसम में भी आप अधिक पैदावार कर सकते हैं।

Subham Morya

मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।

For Feedback - nflspice@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

आपकी पसंद की ख़बरें

Leave a Comment