नैनो यूरिया और यूरिया में क्या फर्क है? ज्यादा यूरिया डालने से क्या होता है?

Written by Subham Morya

Published on:

नई दिल्ली: Nano Urea – किसान भाई बहुत पहले से ही अपनी फसलों में दानेदार पारम्परिक यूरिया खाद का छिड़काव करते आये है लेकिन अब समय बदल गया है और उनके लिए अब मार्किट में नैनो यूरिया आ चूका है। नैनो यूरिया एक तरल रूप में उर्वरक होता है जिसका पानी के साथ में घुल बनाकर फसलों पर छिड़काव किया जाता है।

किसान भाई परम्परिक यूरिया की जगह नैनो यूरिया का इस्तेमाल अगर करते हैं तो सरकार को लगभग 2200 रूपए की बचत हो जाती है। यूरिया की एक बोरी पर सरकार की तरफ से आपको 2200 रूपए की सब्सिडी मिलती है इसलिए ये पैसे सरकार को बच जाते है। इसके अलावा अपना सामान्य यूरिया खाद (Urea Khad) का फसलों में छिड़काव करने पर किसानो को केवल 30 फीसदी तक ही नाइट्रोजन मिल पाता है लेकिन नैनो यूरिया के छिड़काव से फसलों को लगभग 90 फीसदी तक नाइट्रोजन की प्राप्ति होती है।

नैनो यूरिया पर्यावरण हितैषी है

नैनो यूरिया (Nano Urea) पानी में होकर फसलों पर छिड़काव कर दिया जाता है। इससे फसलों को अधिक मात्रा में नाइट्रोजन की प्राप्ति होती है और पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचता। 500ml की एक शीशी को किसान भाई आसानी से 125 लीटर पानी में घोल बनाकर अपनी एक एकड़ फसल में छिड़काव कर सकते है। नैनो यूरिआ पौधों की पत्तियों में सीधा अवशोषित कर लिया जाता है जिसकी वजह से कोई भी नुकसान होने की सम्भावना लगभग ख़तम ही हो जाती है।

नैनो यूरिया सस्ते में उपलब्ध

इस समय किसान भाई जो नार्मल यूरिया का इस्तेमाल करते है उस यूरिया की एक बोरी की कीमत 2460 रूपए है। इस पर सरकार की तरफ से अनुदान दिया जाता है जो की 2200 रूपए के आसपास होता है। ये पैसे की कटौती होने के बाद किसान को नार्मल यूरिया की एक बोरी लगभग 260 से लेकर 270 रूपए में उपलब्ध होती है।

नैनो यूरिया (Nano Urea) इससे बहुत ही सस्ता है। इसकी एक बोत्तल जो की 500ml की होती है उसकी कीमत मार्किट में 217 रूपए है जबकि अगर आप इसको सहकारी समितियों से खरीदने जाते है तो आपको ये 219 रूपए में मिल जाएगी। बहुत सस्ती होने के साथ साथ लाने लेजाने में भी आसानी होती है। इसका घोल बनाकर एक एकड़ में आसानी से छिड़काव हो सकता है।

नैनो यूरिया (Nano Urea) के इस्तेमाल के बहुत फायदे हैं और ये पर्यावरण का हितैषी है तथा किसान को सस्ते में आसानी से उपलब्ध हो जाता है। साधारण यूरिया खाद के छोडकाव के बाद किसानो को अपने खेती में पानी देना जरुरी होता है लेकिन इसमें ऐसा बिलकुल जरुरी नहीं है क्योंकि ये पहले ही पानी में घोल बनाकर छिड़काव किया जाता है।

साधारण यूरिया के नुकसान बहुत हैं

किसान भाई इस समय जिस साधारण यूरिया का इस्तेमाल करते है उसके पर्यावरण को बहुत नुकसान होता है। इसके साथ में ये यूरिया सीधा पौधों में ना जाकर मिट्टी में जाता है जिसके कारण आपके खेत की मिट्टी धीरे धीरे ख़राब होती जाती है और भूगर्भ का पानी भी दूषित होता है।

जागरण में छपी एक खबर के अनुसार देशभर में पिछले साल लगभग 66 हजार टन यूरिया की बोरियों को खेतों में खपाया गया था। ये बहुत बड़ी मात्रा है जो की पर्यावरण के लिए बहुत अधिक हानिकारण है साथ में इंसानो के लीये भी सही नहीं है। इसके साथ ही फैक्ट्रियों में भी इसका चोरी छुपके इस्तेमाल किया जाता है। जबकि नैनो यूरिया में ऐसा बिलकुल भी नहीं है।

ज्यादा यूरिया डालने से क्या होता है?

अगर किसान भाई अपने खेतों में जयदा यूरिया खाद का इस्तेमाल करते है तो वो जहर के सामान हो जाता है। साधारण यूरिया के ज्यादा इस्तेमाल से आपकी फसल भी ख़राब हो सकती है और इसके साथ आपके खेत की उपजाऊ शक्ति भी धीरे धीरे ख़त्म हो जाती है। ज्यादा यूरिया के इस्तेमाल के फसलों में रोग लगने की सम्भावना भी अधिक होती है और ये पर्यावरण के लिए भी बहुत अधिक हानिकारक होता है।

नैनो यूरिया का मालिक कौन है?

नैनो यूरिया (Nano Urea) का इस्तेमाल सबसे पहले भारत में हुआ है और यही पर इसको बनाया गया है। देश की नमी उर्वरक बनाने वाली कंपनी इफको की तरफ से इसको बनाया गया है। इफको की तरफ से ही नैनो यूरिया को तरल रूप में पेश किया गया है लेकिन इसके पीछे एक किसान की बहुत मेहनत भी छुपी हुई है। डॉ. रमेश रालिया ने नैनो यूरिया (Nano Urea) को बनाने में बहुत बड़ा योगदान दिया है और उन्ही की मेहनत के बदौलत आज किसान भाई नैनो यूरिया को अपने खेतों में इस्तेमाल कर पा रहे है।

(कृपया ध्यान दे – यूरिया के दामों में समय के साथ बदलाव हो सकता है इसके यहां इस आर्टिकल में दी गई यूरिया की कीमते केवल पार्टी मात्र और किसानो को समझने के उद्देशय से दर्शाई गई है। बाजार में इसकी कीमतों में आपको अंतर देखने को मिल सकता है)

Read More Related Article: What is nano urea?, Is nano urea better than urea?, Why is nano urea important?, What is the effect of nano urea?, How is Nano urea used?, How is Nano urea made?, How much Nano urea per Litre?, What are the disadvantages of Nano fertilizer?, Can Nano urea replace urea?, nano urea upsc, nano urea price, nano urea benefits, nano urea wikipedia, nano urea composition, nano urea dose, nano urea how to use, Nano urea fertilizer,

Subham Morya

मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।

For Feedback - nflspice@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

आपकी पसंद की ख़बरें

Leave a Comment