उर्वरकों और कीटनाशकों से पैदावार पर होता है असर, आज ही करें ये उपाय

By
On:
Follow Us

यदि आपके भी फसल के पैदावार में उर्वरकों और कीटनाशकों का प्रभाव पड़ रहा है, तो आप उसे आज ही रोक दें। फसल की पैदावार बढ़ाने के लिए उर्वरकों और कीटनाशकों का उपयोग करना एक आम तरीका है। हालांकि, इनका अत्यधिक उपयोग फसल की पैदावार के साथ-साथ पर्यावरण के लिए भी हानिकारक हो सकता है।

उर्वरकों का प्रभाव

उर्वरक पौधों को आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करते हैं, जिससे फसल की पैदावार अधिक होती है। हालांकि, यदि आप अत्यधिक मात्रा में उर्वरकों का उपयोग करते हैं तो इससे मिट्टी की गुणवत्ता खराब हो सकती है। मिट्टी में नाइट्रोजन, फॉस्फोरस और पोटेशियम जैसे पोषक तत्वों अधिक पाए जाते हैं और इससे मिट्टी का अम्लीकरण हो सकता है। इससे मिट्टी में रहने वाले सूक्ष्म जीवों को भी नुकसान पहुंच सकता है, जो मिट्टी की उर्वरता के लिए आवश्यक हैं।

कीटनाशकों का प्रभाव

कीटनाशक फसलों को कीटों और बीमारियों से बचाने के लिए इसका उपयोग किया जाता हैं। हालांकि, अत्यधिक मात्रा में कीटनाशकों के उपयोग से कीटों और बीमारियों के प्रति फसलों की प्रतिरोधक क्षमता कम हो सकती है। इससे कीटों और बीमारियों का प्रकोप बढ़ सकता है।

कीटनाशकों के उपयोग से मिट्टी और पानी भी दूषित हो सकता है। इससे मनुष्यों और अन्य जीवों के स्वास्थ्य के लिए खतरा पैदा हो सकता है।

फसल की पैदावार में उर्वरकों और कीटनाशकों के प्रभाव को कम करने के उपाय

  • उर्वरकों का उपयोग आपको संतुलित मात्रा में करना चाहिए जिससे कीटनाशक के प्रभाव को कम किया जा सकता है।
  • उर्वरकों का उपयोग करने से पहले आपको अपने मिट्टी की जांच करनी चाहिए।
  • जैविक उर्वरकों का अधिक उपयोग करें।
  • आपको कीटनाशकों का उपयोग केवल आवश्यकता पड़ने पर ही करना चाहिए।
  • कीटनाशकों का उपयोग सही मात्रा में और सही समय पर करें।

फसल की पैदावार में उर्वरकों और कीटनाशकों के प्रभाव को कम करने के लिए हम आपको कुछ सुझाव दे रहे है, जिससे आप अपना सकते हैं।

फसल चक्र अपनाएं

फसल चक्र से मिट्टी में पोषक तत्वों की कमी को पूरा किया जा सकता है और यह काफी लाभकारी भी हो सकता है।

भूमि संरक्षण तकनीकों का उपयोग करें

भूमि संरक्षण तकनीकों से मिट्टी की उर्वरता को बढ़ाया जा सकता है।

फसलों की जैविक खेती करें

जैविक खेती से फसलों की पैदावार बढ़ती है और पर्यावरण को भी नुकसान नहीं पहुंचता है।

 

Subham Morya

मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।

For Feedback - nflspice@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Leave a Comment