अयोध्या में बवाल, कांग्रेस नेताओं की एंट्री को लेकर हुई धक्का मुक्की, कांग्रेस का झंडा फहराने की की कोशिश

Subham Morya
Subham Morya - Author
Ruckus in Ayodhya, scuffle over entry of Congress leaders

नई दिल्ली: Ayodhya News – कांग्रेस हाई कमान की तरफ से राम मंदिर में 22 तारीख को होने वाली प्राण प्रतिष्ठा के कार्यक्रम के न्योते को ठुकराया जा चूका है। लेकिन आज इन्ही कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की अयोध्या में श्री राम मंदिर में तगड़ी झड़प देखने को मिली है। धक्का मुक्की हुई और पार्टी का झंडा भी छीन लिया गया।

खबर के अनुसार बताया जा रहा है की सोमवार को यूपी कांग्रेस के कुछ नेता और कार्यकर्त्ता अयोध्या में स्नान के बाद में राम मंदिर पहुँच गए और वहां पर मंदिर के गेट पर कांग्रेस का झंडा फहराने की कोशिश की गई। इस दौरान वहां पर इन कार्यकर्ताओं की वहां पर मौजूद लोगों के साथ में झड़प हो गई।

बताया जा रहा है की सारा विवाद झंडे को लेकर हुआ है और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने राम मंदिर के मुख्य गेट पर अपनी पार्टी का झंडा लहराने की कोशिश की जिससे वहां मौजूद लोगों ने इसका विरोध किया और फिर दोनों पक्षों में धक्का मुक्की का माहौल बन गया।

कांग्रेस ने ठुकराया न्योता

आपको बता दें की श्रीराम मंदिर के सहरोह के लिए सभी पार्टियों को न्योता भेजा गया था जिसमे कांग्रेस के आलाकमान जिसमे कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, पार्टी की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और लोकसभा में पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी की तरफ से समारोह में शामिल होने न्योता ठुकरा दिया गया था।

देश में हिन्दुओं की आस्था का सबसे बड़ा समारोह 22 जनवरी को होने जा रहा है और कांग्रेस ने इसको बीजेपी का इवेंट बताया है और कहा की ये समारोह राजनीती का प्रोजेक्ट है। वहीं कांग्रेस पार्टी के महासचिव जयराम रमेश की तरफ से समारोह को लेकर कहा गया की मंदिर का निर्माण अभी पूरा भी नहीं हुआ है तो बीजेपी को अभी से क्या जल्दी है की अधूरे निर्माण में ही समारोह करने जा रही है।

22 जनवरी को होगा ये कार्यक्रम

अयोध्या में इस समय रामलला की प्राण प्रतिष्ठा की जोर शोर से तैयारी चल रही है और 22 जनवरी के दिन दोपहर में 12:20 का समय इसके लिए निर्धारित किया गया है। इस समय सभी पूजा और कर्मकांड की प्रक्रिया लक्ष्मीकांत दीक्षित के द्वारा संपन्न की जाएगी। लक्ष्मीकांत दीक्षित वाराणसी के रहने वाले है।

प्राणप्रतिष्ठा का प्रोग्राम कल 16 जनवरी से ही शुरू हो जायेगा और पूजा अर्चना और मंत्रोचारण के जरिये ये 21 जनवरी तक चलता रहेगा। मंदिर के गर्भ गृह में रामलला को 18 जनवरी जो स्थापित कर दिया जायेगा और भगवान श्रीराम के बाल स्वरुप की मूर्ति को स्थापित किया जायेगा। मूर्ति का वजन 120 से 200 किलोग्राम का है।

Share This Article
By Subham Morya Author
Follow:
मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।
Leave a comment