Weather News: बिपरजॉय तूफान का फिर से मंडराया खतरा, इन राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी

Subham Morya
Subham Morya - Author
weather-news-biparjoy-tufan-fir-se-aa-rha-hai

Weather News: उतर और पश्चिमी राज्यों के अंदर मौसम फिर से करवट बदल रहा है ऊपर आज से यहां पश्चिमी विक्षोभ के चलते बारिश का अलर्टस जारी हो चुका है। देश की राजधानी से सटे उत्तरप्रदेश में मौसम विभाग की तरफ से भरी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया है। 14 से 17 अक्टूबर के बीच में पुरे पश्चिमी भारत में भी तेज बारिश होने की सम्भावना मौसम विभाग के द्वारा की जा रही है।

भारतीय मौसम विभाग की तरफ से दक्षिण भारत में तमिलनाडु, केरल में आने वाले 5 दिनों तक तेज बारिश की सम्भावना मकौसम विभाग द्वारा लगाई गई है और इसके लिए चेतावनी भी जारी की गई है। इसके अलावा लक्षद्वीप में 14 से 18 अक्टूबर तक तेज बारिश बताई जा रही है।

उत्तर भारत में भी तेज बारिश की चेतावनी

देश के उत्तरी राज्यों में भी मौसम विभाग की तरफ से तेज बारिश का अलर्टस जारी किया जा चुका है। जम्मू कश्मीर, लद्दाख, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और पंजाब में मौसम विभाग की तरफ से 15 और 16 अक्टूबर को तेज बारिश बताई गई है। इसके अलावा उत्तर भारत के हरियाणा, राजस्थान, उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश में भी मौसन विभाग ने तेज बारिश की चेतावनी जारी की है।

इसके अलावा पूर्वी भारत में भी मौसन विभाग ने कुछ राज्यों में तेज बारिश की सम्भावना बताई है। अंडमान और निकोबार में भी 16 और 18 अक्टूबर के दरमियां मौसन विभाग ने तेज बारिश की चेतावनी जारी की है। इसके अलावा पूर्वी राज्यों में ही दक्षिणी कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र में भी कॉसम विभाग ने 16 और 16 अक्टूबर को तेज बारिश की सम्भवना जताई है।

गुजरात पर बिपरजॉय जैसे चक्रवात का मंडराता खतरा

आपको बता दें की कुछ महीनो के पहले बिपरजॉय तूफान ने देश के कई राज्यों में काफी उत्पात मचाया था और जिसकी वजह से जिंदगी तहत सी गई थी। जानकारों के अनुसार जल्द ही अरब सागर में बिपरजॉय तूफान उठने वाला है। 16 तारीख को मौसन विभान की तरफ से बयान जारी करके कहा गया है की तूफान की हलचल 16 तारीख से शुरू हो जाएगी और इसके बाद 16 तारीख को वायुमंडल में हवा का दवाब बनेगा और उसके बाद में ही 22 से 24 अक्टूबर को भयंकर चक्रवात आएगा।

चक्रवात के कारण बंगाल की खाड़ी की नमी खींचकर मजबूत होगी। इसके तुरंत बाद पश्चिमी विक्षोभ के कारण न्यूनतम तापमान में गिरावट आएगी। हालांकि अभी यह अनुमान लगाना मुश्किल है कि चक्रवात कहां टूटेगा, लेकिन अगर चक्रवात ओमान की ओर टूटा तो पश्चिमी सौराष्ट्र में भारी बारिश होगी। चक्रवात के ओमान की ओर बढ़ने की संभावना है। इसके अलावा पोस्ट मानसून 22 से 26 अक्टूबर तक आएगा। 17 अक्टूबर को समुद्री तट पर तेज हवा चलेगी जिसके कारण सौराष्ट्र के तट पर बारिश होगी.

Share This Article
By Subham Morya Author
Follow:
मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।
Leave a comment