सुब्रत रॉय के निधन के बाद निवेशकों के रिफंड पर क्या होगा असर, देखिये पूरी प्रक्रिया कैसे होगी पूरी

Subham Morya
Subham Morya - Author
What will be the impact on Subrata Roy's bonds after his demise, see how the entire process will happen.

नई दिल्ली: Sahara Refund – कल देर रात सहारा के प्रमुख सुब्रत राय का कार्डियोरेस्पिरेटरी अरेस्ट के बाद में निधन हो गया। उनका अंतिम संस्कार लखनऊ में किया जा रहा है। ऐसे में अब जब सहारा प्रमुख नहीं रहे तो सहारा के निवेशकों को ये डर सताने अलग है की अब उनके निवेश किये गए पैसे का रिफंड कैसे होगा।

देश में इस समय लाखों की संख्या में ऐसे लगों हैं जिन्होंने सहारा ग्रुप की चार कंपनियों में निवेश किया था और वे रिफंड की प्रक्रिया वाली लाइन में खड़े है।

सहारा प्रमुख की मौत का नहीं होगा रिफंड पर असर

सहारा प्रमुख की मृत्यु के बाद सहारा के रिफंड पर कोई भी असर नहीं होने वाला हैं। आपको बता दें की सहारा के रिफंड के लिए एक अलग से पोर्टल बनाया हुआ है जिसका उद्घाटन जिले महीने में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के द्वारा किया गया था।

सभी निवेशकों के रिफंड की प्रक्रिया इस पोर्टल के जरिये की जा रही है। इसलिए सहारा प्रमुख के नहीं रहने से इस प्रक्रिया पर कोई असर नहीं होने वाला।

सहारा का रिफंड पोर्टल क्या है

सहारा रिफंड पोर्टल की शुरुआत भारत सरकार की तरफ से देश के लाखों सहारा निवेशकों को हो रही परेशानियों को देखते हुए किया गया है। इस पोर्टल में सहारा की चार कंपनियों जिनमे सहारा क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड, सहारायन यूनिवर्सल मल्टी पर्पस सोसाइटी लिमिटेड, हमारा इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड और स्टार मल्टीपर्पज कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड शामिल है के रिफंड के लिए लोगों को आवेदन करना होता है।

सरकार की तरफ से ऐसी साल जुलाई महीने से शुरू किये गए इस पोर्टल पर अभी तक 18 लाख से अधिक रिफंड आवेदन प्राप्त हो चुके है और इस पोर्टल की तरफ से पहला रिटर्न 10 हजार या उससे अधिक के रिफंड प्राप्त करने वाले लोगो को शामिल किया गया है।

आवेदन और रिफंड का डेटा ऑनलाइन

सहारा रिफंड पोर्टल का सारा डाटा ऑनलाइन उपलब्ध करवाया गया है ताकि लोगों को किसी भी तरह की कोई भी दिक्कत ना होने पाए। इससे निवेश अपने रिफंड के बारे में ऑनलाइन जानकारी प्राप्त कर सकते है और इसके साथ ही ये भी देख सकते है की उनके रिटर्न में किसी प्रकार की कोई दिक्कत तो नहीं है।

इसके साथ ही जिन लोगों ने सहारा की चरों कंपनियों में से किसी में भी निवेश किया था केवल वही निवेशक रिफंड के लिए आवेदन कर सकते है। रिफंड के लिए सभी निवेशकों को आवेदन करना बहुत जरुरी है और बिना आवेदन के किसी को भी रिटर्न प्राप्त नहीं होगा।

कैसे होगा पंजीकरण और रिफंड

सहारा ग्रुप के निवेशकों को रिफंड प्राप्त करने के लिए आवेदन करना होगा। इसके लिए आवेदक सहारा रिफंड पोर्टल पर ऑनलाइन अपना आवेदन कर सकता है। फार्म भरने के बाद निवेशक को निवेश के समय प्राप्त हुई रशीद को भी जमा करना होता है। बिना रशीद के रिफंड नहीं मिलेगा।

इसके अलावा पंजीकरण के समय दिए गए बैंक खाते का आपके आधार कार्ड से लिंक होना और आधार कार्ड का मोबाइल नंबर वेरिफिकेशन के लिए बहुत जरुरी है। अगर पोर्टल पर आपकी रिफंड की स्वीकृति मिलती है तो इसको आपके मोबाइल नंबर पर SMS भेज कर सूचित किया जाता है। इसके अलावा आपने पंजीकरण के समय जो बैंक खाता नंबर पोर्टल पर उपलब्ध करवाया है उसमे बाद में आप कोई भी बदलाव नहीं कर सकते।

Share This Article
By Subham Morya Author
Follow:
मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।
Leave a comment