भैंस की इन नस्लों को लेकर आओ अपने घर – दूध बेचकर बन जाओगे करोड़पति

Subham Morya
Subham Morya - Author
Buffalo Farming Tips For Dairy Business

नई दिल्ली: Dairy Farming Tips – देश मे लाखों पशुपालन करने वाले लोग हैं जो दूध बेचकर अपने बिज़नेस को आगे बढ़ रहे है या फिर दूध बेचने से ही उनकी आजीविका चल रही है। दूध की डिमांड हर समय रहती है और इसका बिज़नेस भी काफी तेजी के साथ मे फैलता जा रहा है। ऐसे में इस समय अगर आप दूध बेचने का बिज़नेस शुरू करते है तो आपको करोड़ों की कमाई हो सकती है। लेकिन इसके लिये आपको भैंसों की कुछ खास नस्लों को अपने डेयरी फार्म में लेकर आना होगा।

भैंसों की कुछ नस्लें ऐसी हैं जो दूध देने में अव्वल तो है ही साथ मे लगभग हर तरह की जलवायु ओर मौसम में अपने आपको एडजस्ट कर लेती है। अगर आप डेयरी बिज़नेस की शुरुआत करने के बारे में सोच रहे है या फिर आपका पहले से ये बिज़नेस है तो आपको यहां नीचे दी गई भैंसों की नस्लों के बारे में पता होना चाहिये। और ना सिर्फ पता होना चाहिये बल्कि आपको इनको अपने डेयरी फार्म में लेकर भी आना चाहिये।

भैंसों की सबसे अच्छी नस्ल कौन कौन सी है?

देखिये भैंसों में भी कई प्रकार की नस्लें पाई जाती है। ये नस्लें क्षेत्र और जलवायु के अनुसार होती है। उसी के अनुसार भैंस की दूध देने की छमता भी होती है। भैंसों में सबसे अच्छी नस्ल मुर्रा भैंस को माना जाता है। ये भैंस दूध देने के मामले में सबसे ऊपर की गिनती में आती है।इस भैंस की दूध देने की छमता को ओर भी बढ़ाया जा सकता है और इसके लिये आपको बहुत सारे तरीके मिल जायेंगे जो आपको ये बताते हैं कि भैंस का दूध कैसे बढ़ाएं।

भैंस की सबसे अच्छी नस्ल – मुर्रा भैंस

भैंस की मुर्रा नस्ल बहुत ही प्रसिद्ध है और इसको ज्यादातर पशुपालक अपने डेयरी फार्म में रखते हैं। मुर्रा भैंस सबसे अधिक हरियाणा में देखने को मिलती है। इस नस्ल की भैंस एक दिन में लगभग 15 से लेकर 18 लीटर तक दूध आसानी से दे देती है। अगर इस भैंस की चराई ठीक से की जाये तो ये ओर भी अधिक दूध देने में सक्षम होती है। कीमत की अगर बात करें तो मुर्रा भैंस आपको लगभग 60 हजार से लेकर 1.5 लाख तक कि देखने को मिल जायेगी। मुर्रा भैंस की ये कीमत उसकी दूध देने की छमता ओर भैंस की शारिरिक संरचना के आधार पर तय की जाती है।

भैंस की सबसे अच्छी नस्ल – मेहसाणा भैंस

भैंस की मेहसाणा नस्ल को भी डेयरी बिज़नेस के लिये बहुत ही लाभकारी माना जाता है। मेहसाणा नस्ल की भैंस गुजरात और महाराष्ट्र के कुछ जिलों में पाई जाती है। भैंस की ये नस्ल भी मुर्रा भैंस की तरह ही होती है बस कुछ शारीरक बदलाव आपको जरूर देखने को मिलेंगे। लेकिन दूध देने के मामले में ये दूसरे स्थान का दर्जा हासिल करती आई है। मेहसाणा भैंस रोजाना लगभग 12 से 15 लीटर तक दूध आसानी से दे देती है। ये भैंस की नस्ल किसी भी प्रकार की जलवायु में अपने आपको एडजस्ट करने में भी सक्षम होती है।

भैंस की सबसे अच्छी कुछ प्रमुख नस्लें ये भी हैं

भैंसों में इनके अलावा मराठवाड़ी, जाफराबादी, सम्भलपुरी, टोडा ओर सठकनारा नस्लें भी काफी अच्छी मानी जाती है। पशुपालक अपने डेयरी फार्म में इनमें से किसी भी भैंस की नस्ल के चुनाव कर सकते हैं। इन सभी नस्लों में दूध देने की छमता काफी अधिक होती है और डेयरी फार्म में उसी पशु को रखा जाता है जो ज्यादा दूध। इससे भी डेयरी फार्म का बिज़नेस चलता है। दूध की डिमांड ओर रेट दोनों ही फिलहाल हाई हैं और ऐसे में इस बिज़नेस में काफी अधिक मुनाफा होता है।

Share This Article
By Subham Morya Author
Follow:
मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।
Leave a comment