Business Idea: एक साथ शुरू करें यह दो बिजनेस, आधी लागत में डबल मुनाफा

Subham Morya
Subham Morya - Author
Business Idea Start these two businesses together, double profit at half the cost (1)

Business Idea: अगर आप भी किसी ऐसे बिजनेस आइडिया की तलाश में है जिसमें आपको डबल मुनाफा हो या फिर कहीं आप काफी कम निवेश में भी काफी ज्यादा प्रॉफिट कमा सके तो आज हम आपके साथ एक ऐसी बिजनेस के बारे में बात करने वाले हैं जिस पर आप काम करके बहुत ही आसानी से काफी अच्छा प्रॉफिट कमा सकते हैं अगर आप भी इस बिजनेस आइडिया के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारे इस लेखक को पढ़ते रहिए हम आपको सब कुछ डिटेल में बताने वाले हैं।

आज हम आपके साथ मछली पालन के साथ बाधक पालन का बिजनेस शेयर करने वाले हैं कि किस प्रकार से आप इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं किस प्रकार से आपके लिए यह बिजनेस फायदेमंद हो सकता है, इसके बारे में हम डिटेल में जानकारी देने वाले हैं साथ में यह भी बताएंगे कि किस प्रकार से आप इस बिजनेस के माध्यम से अत्यधिक प्रॉफिट कमा सकते हैं तो चलिए सब कुछ डिटेल में जानते हैं।

मछली पालन के साथ बतख पालन का बिजनेस कैसे शुरू करें 

मछली पालन के साथ बत्तख पालन के लिए आपको यह ध्यान रखना बहुत ज्यादा जरूरी है कि आपको अच्छी नस्ल वाली बतख पालनी चाहिए पाठक पालन के लिए खाकी कैपेबल प्रजाति सिलहट मिट्टी नागेश्वरी इंडियन रनर पंजाब को चैन कर सकते हैं यह बत्तख काफी ज्यादा अच्छी होती हैं, मछली के साथ बटक पालन के लिए आपको ऐसे तालाब का चयन करना होगा जिसकी गहराई कम से कम 1.5 मीटर से लेकर 2 मीटर तक होनी चाहिए।

इसके साथ ही तालाब में 250 से 350 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर की दर से चुने का इस्तेमाल होगा तालाब के ऊपर या फिर किसी किनारे पर आपको बत्तखो के लिए एक बड़ा बड़ा बनना पड़ेगा इसके बाद आपको तालाब पर बस और लकड़ी का बड़ा के साथ एक हवादार बड़ा बनना पड़ेगा जो की सुरक्षा के साथ होना चाहिए, जिसमें आप बहुत ही आसानी से एक हेक्टेयर एरिया में 250 से लेकर 300 तक पाल सकते हैं।

कैसे होगा बिजनेस का फायदा 

अगर आप मछली पालन के साथ बतख पालन से सालाना 3500 से लेकर 4000 किलोग्राम मछली 15 और 1800 एंड और 500 से लेकर 600 बत्तख मास का उत्पादन बहुत ही आसानी से किया जा सकता है। इसके साथ ही एक बत्तख को 120 ग्राम दान देना रोज काफी ज्यादा जरूरी होता है वहीं अगर मछली की बात करें तो आपको मछली पालने में 60 से 70 ग्राम दान देना जरूरी होता है।

इसी प्रकार से मछली के साथ बत्तख पालन एक्स्ट्रा खाद डालने की जरूरत नहीं पड़ती है जिसके जल्दी आपको यह फायदा मिल जाता है, इसके साथ ही बतख टाइट पतंग के पौधे मेंढक के बच्चे आदि का जाती है जो की मछलियों के लिए हानिकारक होते हैं और आप की मछलियां भी इससे बच जाएगी। इसके साथ ही तालाब में बत्तख के तैरते रहने से वायुमंडल की ऑक्सीजन पानी से धुलती रहती है और साफ़ रहती है। 

इसी प्रकार से आप एक हेक्टेयर हम तालाब में मछली के साथ पढ़ने वाली 200 से लेकर 300 बत्तख को बीट ही मछलियों के लिए भरपूर भोजन हो जाएगा और ऐसे में आपका यह अच्छा प्रॉफिट बन जाएगा ऐसे में अगर आप बिजनेस करना चाहते हैं तो आप इसकी भी शुरुआत कर सकते हैं इसमें भी काफी अच्छा प्रॉफिट कमा सकते हैं।

Share This Article
By Subham Morya Author
Follow:
मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।
Leave a comment