खेती में इन तकनीकों का करेंगे इस्तेमाल तो हो जायेंगे मालामाल, देखिये नये ज़माने के खेती के तरीके

Subham Morya
Subham Morya - Author
If you use these techniques in farming you will become rich, see the new age farming methods

नई दिल्ली: जमाना बदल रहा है और ऐसे में देश के किसान भाइयों को भी बदलाव करने की जरुरत है। एक तो खेती की जमीन अब धीरे धीरे कम होती जा रही है और दूसरा पर्यावरण भी अब पहले जैसा नहीं रहा है। गर्मी में भयंकर गर्मी तो सर्दी में अब सर्दी नहीं होती। बारिश में भी अब काफी बदलाव हो चुका है। ऐसे में किसानो को अब नये ज़माने की खेती की तकनीकों का इस्तेमाल करना चाहिए ताकि खेती में अधिक पैदावार ली जा सके और साथ में मुनाफा भी अधिक कमाई किया जा सके।

पहले के समय में किसानों को खेती करने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती थी, लेकिन धीरे-धीरे अब आधुनिकरण आने की वजह से उन्हें कम मेहनत करनी पड़ती है, लेकिन किसानो की सबसे बड़ी समस्या होती है, कि उनकी पैदावार बहुत ही कम होती जा रही है, इसलिए अब उनको आधुनिक खेती का इस्तेमाल करना चाहिए, जिससे वह कम लागत में बेहतर मुनाफा कमा सकते हैं। तो आइए अब आधुनिक खेती के बारे में विस्तार से जानते हैं।

खेती करने के लिए ड्रोन तकनीक का करें इस्तेमाल

ड्रोन तकनीक का इस्तेमाल करके आप अपने खेतों में कीटनाशक का छिड़काव कर सकते हैं, इससे आपके समय और पैसे दोनों की बचत होगी। इस ड्रोन में एक टैंकर लगाया गया होता है, जिसमें कीटनाशक दवाओ का छिड़काव किया जाता है, यह ड्रोन भी अन्य ड्रोन के जैसा ही होता है, लेकिन इसे किसानो की आवश्यकताओं के अनुसार तैयार किया गया है।

सरकार इस तकनीक को बढ़ावा देने के लिए बहुत सारे कदम उठा रही है और लोगों को इस पर सब्सिडी भी दे रही है तथा महिलाओं को ड्रोन परीक्षण की ट्रेनिंग दे रही है, जिससे महिलाएं भी सशक्त बन सके।

हाइड्रोपोनिक्स (HydroPonics)

हाइड्रोपोनिक्स एक ऐसी तकनीक है, जिसका इस्तेमाल करके आप पाइप के माध्यम से अपने खेत में सभी आवश्यक तत्व का छिड़काव कर सकते हैं, इसके लिए आपको मिट्टी की आवश्यकता नहीं पड़ती है, फिलहाल इस तकनीक का उपयोग भारत में नहीं किया जा रहा है, लेकिन यूरोप जैसे देशों में इसका बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जा रहा है।

पाॅली हाउस तकनीक (Poly House Technique)

पाॅली हाउस तकनीक का इस्तेमाल करके आप अपने खेतों को कीड़े मकोड़े से बचा सकते हैं और सब्जी और फूलों की खेती कर सकते हैं। इस तकनीक को बहुत सारे लोग ग्रीन हाउस के नाम से भी जानते है। यह ऐसी तकनीक है, जिसमें सब्जी का संचालन प्लास्टिक के छत के नीचे किया जाता है।

बायो फ्लॉक तकनीक

यदि आप मछली पालन करते हैं तथा मछली पालन करने का विचार कर रहे हैं, तो बायो फ्लॉक तकनीक आपके लिए काफी कारगर साबित हो सकती है। इस तकनीक में प्लास्टिक टैंक का इस्तेमाल किया जाता है और उस टैंक का इस्तेमाल करके आप अपने फसल की सिंचाई भी कर सकते हैं।

Share This Article
By Subham Morya Author
Follow:
मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।
Leave a comment