सऊदी अरब में काम करने वालों के लिए बदल गया नियम, भारतीयों पर क्या होगा असर, देखें

By
On:
Follow Us

नई दिल्ली: भारत के लगभग 26 लाख कामगार सऊदी अरब में नौकरी करते है। इन कामगारों में नौकर का काम करने वाले, ड्राइवरी करने वाले, सफाई कर्मचारी, रसोइया, गार्ड का काम करने वाले, खेती के लिए किसान, दर्जी का काम करने वाले, लिव-इन नर्स के साथ साथ में बच्चों के लिए ट्युसन देने वाले शामिल है। सऊदी की सरकार की तरफ से इन सभी घरेलु कामगारों की वीसा निति में बदलाव कर दिया गया है और इसको और भी अधिक शख्त बनाने की कोशिश की गई है।

अविवाहित कामगारों पर होगा असर

सऊदी की सरकार की तरफ से बदले गए नियम के अनुसार इसका असर अविवाहित कामगारों पर सबसे अधिक पड़ने वाला है। सऊदी में रहने वाले अविवाहित महिलाएं या फिर अविवाहित पुरुष इस नियम के लागु होने के बाद में जब तक 24 साल के नहीं हो जाते तब तक विदेशी कामगारों को अपने यहां पर किसी भी विदेशी को काम पर नहीं रख सकते। सऊदी का कोई भी नागरिक जब तक इन शर्तों को पूरा नहीं करेगा तब तक वह किसी भी विदेशी को नौकरी पर नहीं रख पायेगा।

भारत पर कितना पड़ेगा असर

सऊदी सरकार की तरफ से लिए गए फैसले का असर भारत के कामगारों पर होगा क्योंकि इस नियम के लागु होने के बाद सऊदी में भर्ती प्रक्रिया बहुत मुश्किल हो जाएगी। भारत के करीब 25 लाख कामगार सऊदी में नौकरी करते है जिनमे अलग अलग कामों के लिए वहां गए हैं। केवल भारत ही नहीं बल्कि दुनिया भर के कामगार जो सउदिया में काम करते है या फिर जाना चाहते हैं उन सभी को समस्या होगी। सऊदी के इस नियम के बाद अब किसी भी देश का कोई भी नागरिक किसी सऊदी के नागरिक के यहां काम नहीं कर पायेगा जब तक उसकी आयु 24 साल की नहीं हो जाती है।

आजतक में छपी खबर के अनुसार सऊदी अरब द्वारा लिया गया ये निर्णय वहां के घरेलू श्रम बाजार को और बेहतरीन और विनिमय करने के लिए लागु किया गया है। सऊदी मानव संसाधन मंत्रालय की तरफ से इसके लिए एक विशेष प्लेटफार्म का निर्माण भी कर दिया गया है जिसका नाम Musaned प्लेटफॉर्म रखा गया है। इस प्लेटफार्म के जरिये कामगारों को उनके अधिकारों और सम्बंधित कामों के बारे में जानकारी देने के साथ साथ में वीसा जारी करने वाली संस्था और कामगारों के बीच में बातचीत की सुविधा को भी चालू किया जा रहा है।

Musaned प्लेटफॉर्म से ही वेतन ट्रांसफर होगा

सऊदी सरकार की तरफ से शुरू की गई Musaned प्लेटफॉर्म के जरिये ही अब कामगारों को वेतन ट्रांसफर करने की सुविधा भी शुरू की जा रही है। Musaned प्लेटफार्म पर ही अब STC पे और Urpay के माध्यम से सभी कामगारों के वेतन को ट्रांसफर करने की सुविधा को शुरू किया जा रहा है ताकि कामगारों को कोई भी समस्या ना होने पाये। हालाँकि सऊदी अरब के इस नए नियम से एक तरफ भारत के कामगारों पर असर तो होगा ही लेकिन साथ में उनको काफी सहुलिया भी सऊदी अरब सरकार की तरफ से नए प्लेटफार्म के जरिये मिलने जा रही है।

Subham Morya

मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।

For Feedback - nflspice@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Leave a Comment