आईवीएफ (IVF) तकनीक क्या है और कब इसका सहारा लिया जाता है, देखें आईवीएफ (IVF) से जुडी सभी जानकारी

Subham Morya
Subham Morya - Author
What is IVF technique and when is it resorted to, see all the information related to IVF.

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों की जीवन शैली बहुत बदल चुकी है और ऐसे में सभी की जिंदगी में बहुत से बदलाव आ चुके है। लोग सुबह से शाम तक टेंशन में रहते है और इसका सीधा असर इंसान की प्रजनन शक्ति पर भी पड़ता है। IVF तकनीक ऐसे समय में एक वरदान बनकर सबके सामने आई है जिसने लोगों की बहुत सी समस्याओं को खत्म कर दिया है।

आईवीएफ (IVF) का सहारा आज के समय में बहुत से लोगों के द्वारा लिया जा रहा है और इसका सहारा लेने के बहुत से अलग अलग कारण हो सकते है। चलिए जानते है आईवीएफ (IVF) तकनीक के बारे में पूरी डिटेल में की आखिर कौन इस तकनीक का सहारा लेता है और IVF की प्रक्रिया क्या होती है।

आईवीएफ (IVF) प्रक्रिया क्या होती है?

आईवीएफ (IVF) में महिलाओं के ऐग को लिया जाट अहइ और पुरुष के स्पर्म को लिया जाता है। इसके बाद में दोनों को लैब में भूर्ण बनाया जाता है और उसकी 4 से 5 दिन तक देखभाल की जाती है। इसके बाद अगर सबकुछ सही होता है तो उस भूर्ण को महिला के गर्भाशय में स्थानांतरित कर दिया जाता है। ज्यादातर इस प्रक्रिया को वही लोग करवाते है जिन लोगों की शादी को काफी समय हो चूका है और उनके काफी प्रयास के बाद में भी बच्चा नहीं हो रहा है।

इसके कई कारण हो सकते है। आईवीएफ (IVF) प्रक्रिया में करते समाय अगर ये पाया जाता है की पुरुष या फिर महिला में प्रजनन से सम्बंधित कोई समस्या है तो फिर इसके लिए सपरं या फिर अंडे के डोनेशन की प्रक्रिया का भी सहारा लिया जा सकता है। इस प्रक्रिया के आने के बाद में दुनिया भर में लाखों लोग माता पिता बनने का सुख हासिल कर चुके है।

आईवीएफ (IVF) कौन कौन करवा सकता है?

आज के समय में बहुत से लोगों को आईवीएफ (IVF) की प्रक्रिया की जरुरत होती है और वे उसके सहारे के बिना माँ बाप बनने में सक्षम नहीं है। इसके कई कारण हो सके है। जिन लोगों की शादी को कई साल हो चुके हैं और उन्होंने बच्चा पैसा करने के कई प्रयास किये हैं फिर भी उनको सफलता नहीं मिली है वे लोग डॉक्टर से सलाह करने के बाद में इस प्रक्रिया का सहारा ले रहे है और उनको सफलता भी मिल रही है। इसके अलावा कोई महिला अगर एंडोमेट्रियोसिस के ग्रस्त है तो भी वो इसका सहारा ले सकती है।

महिला या फिर पुरुष में कोई अनुवांशिक समस्या है जिसके चलते में बच्चे को पैसा नहीं कर पा रहे है या फिर महिला की फैलोपियन ट्यूब क्षतिग्रस्त है या फिर बंद है तो भीवे इस तकनीक का सहारा लेकर माता पिता बन सकते है। इसके अलावा जो लोग अधिक आयु के हो चुके है और बच्चा पैसा करना चाहते है लेकिन प्राकृतिक तरीके से उनको बच्चा नहीं हो रहा है तो भी वे लोग आईवीएफ (IVF) का सहारा लेकर माता पिता बनने का सुख प्राप्त कर सकते है।

आईवीएफ (IVF) से पहले ये जरूर करें

सबसे पहले तो आप अगर आईवीएफ (IVF) प्रक्रिया का चुनाव कर रहे है तो आपको ये द्केहना है की आखिर ऐसा कौन सा कारण है जिसके लिए आपको इस प्रक्रिया का चुनाव करना पड़ रहा है। आपकी जो भी वजह है उसको डॉक्टर को जरूर डिसकस करें ताकि अगर उसका कोई अल्टरनेट कुछ अगर है तो पहले उसको अपनाएं। आईवीएफ (IVF) की प्रक्रिया काफी महंगी प्रक्रिया है और इसलिए लिए इससे पहले बाकि के प्रयास जरूर करने चाहिए।

इसके साथ में अपने पार्टनर का मेल फर्टिलिटी टेस्ट को भी एक बार जरूर करवाना चाहिए जिससे आपको ये पता चल सके की बच्चे पैदा होने में समस्या क्या है। इसके साथ में आपको महिलाओं को भी अपने सभी टेस्ट डॉक्टर की सलाह के अनुसार पुरे करवाने चाहिए ताकि उनकी ट्यूब्स और अण्डों की भी जाँच होने के बाद में समस्या का पता चल सके।

Share This Article
By Subham Morya Author
Follow:
मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।
Leave a comment