गाजा में भयानक तबाही के बाद भारत ने फिलिस्तीन को भेजी सहायता, देखें

Subham Morya
Subham Morya - Author
After the massive devastation in Gaza, India provided military assistance to Palestine, see

New Delhi: भारत की तरफ से आज फिलिस्तीन को सहायता भेजी गई है जिसमे 6.5 टन चिकित्सा सहायता और 32 टन आपदा राहत सामग्री फिलिस्तीन के लिए भारतीय वायुसेना के एक जहाज ने उड़ान भरी है। भारतीय वायुसेना की उड़ान IAF C-17 से फिलिस्तीन के लिए मदद भेजी गई है। भारत का ये विमान मिश्र के एल-अरिश हवाई अड्डे के लिए रवाना किया गया है।

भारत की तरफ से भेजी गई रहत सामग्री में आवश्यक वस्तुओं के अलावा आवश्यक जीवन रक्षक दवाएं, सर्जिकल सामान, तंबू, स्लीपिंग बैग, तिरपाल, स्वच्छता सुविधाएं और जल शोधन गोलियां शामिल की गई है ताकि वहां के लोगों को रहत मिल सके। आपको बता दे की इस समय इजराइल और फिलिस्तीन में भयंकर युद्ध चल रहा है और इसमें हजारों की संख्या में नागरिक मारे जा चुके है।

फिलिस्तीन की हालत इस समय बहुत ख़राब चल रही है और वहां के लोगों को सहायता की बहुत सख्त जरुरत है। इज़राइल की तरफ से गाजा के लोगों के सहायता के सभी रस्ते बन्द कर रखे है। भारत के विदेश मंत्रालय की तरफ से अपने एक बयान में कहा गया है की भारत फिलिस्तीन के लोगों को मानवीय सहायता भेज रहा है जिसमे हमारा IAF C-17 के जरिये हमने 32 टन आपदा राहत सामग्री फिलिस्तीन को भेजी है।

इससे पहले भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने गाजा के अस्पताल पर हुए हमले की कड़ी निंदा की थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास से बात की और क्रूर घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया। विदेश मंत्रालय की तरफ से कहा गया है की आगे भी भारत फिलिस्तीन के लोगों को मदद भेजता रहेगा।

हमले में शामिल लोगों को सजा की मांग

बुधवार को पीएम मोदी की तरफ से हमले में मारे गए लोगों के लिए शौक व्यक्त किया गया और जो भी इस हमले में शामिल लोग हैं उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग भी की। मोदी जी ने लिखा की “संघर्ष में नागरिक हताहत हुए है और ये एक गंभीर और निरंतर चिंता का विषय है”

हमास के खिलाफ इज़राइल का समर्थक है भारत

हमास के शुरूआती हमले को लेकर भारत ने हमेशा से हमास का विरोध किया है और इज़राइल पर होने वाले हमास के हमले को लेकर इज़राइल का पक्ष लिया है। भारत 7 अक्टूबर को इजरायल पर किए गए हमलों के बाद हमास को खत्म करने के इजरायली आह्वान का समर्थन कर रहा है, जिसमें 1,300 से अधिक लोग मारे गए थे और कहा जाता है कि 200 से 250 इजरायलियों को बंधकों के रूप में गाजा ले जाया गया था।

Share This Article
By Subham Morya Author
Follow:
मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।
Leave a comment