किसानों के लिए वरदान, 1 एकड़ में 10 लाख की कमाई, देखे कौन से पेड़ की करनी है खेती

Subham Morya
Subham Morya - Author
Boon for farmers, earning Rs 10 lakh in 1 acre, see which tree to cultivate

नई दिल्ली: Farmers News – आज के समय में लोग आयुर्वेद की तरफ अग्रसर होने लग गए है और इसकी एक वजह ये भी है की लोगों को एलोपैथी में एल्जा तो मिल जाता है लेकिन वो स्थाई नहीं होता है और वहीं आयुर्वेद बीमारी को जड़ से ख़त्म कर देती है। आयुर्वेद की तरफ जैसे जैसे लोग रुझान कर रहे है वैसे वैसे आयुर्वैदिक दवाओं की जरुरत भी अधिक होने लगी है और ऐसे में अब किसान भाई आयुर्वेद से जुडी फसलों की खेती करके अच्छा खासा मुनाफा कमाई कर सकते है।

आयुर्वेद में एक औषधि है जिसका नाम है रीठा और रीठा की खेती करना बहुत ही आसान है लेकिन इसमें मुनाफा बहुत अधिक है। रीठा का वानस्पतिक नाम सैपिंडस म्यूकोरोसी है और ये पौधा ऊंचाई वाले क्षत्रों में ज्यादा पाया जाता है। अगर आप इसकी खेती करना चाहते है तो आपको इसकी नर्सरी तैयार करने के बाद में अपने खेत में इसकी रोपाई करनी होती है।

आयुर्वेद में रीठा के पौधे के लगने वाले फलों और इसके बीजों का इस्तेमाल किया जाता है जिनसे दवाओं को बनाने में काम में लाया जाता है। रीठा की खेती करने में मौजूदा समय में बहुत अधिक फायदा है और इस मौके को किसान भाइयों को अपने हाथ से नहीं जाने देना चाहिए।

रीठा का उपयोग कहां कहां होता है

रोता का उपयोग कई प्रकार की दवाओं को बनाने में किया जाता है। ब्यूटी के प्रोडक्ट में शैम्पू बनाने में रीठा का प्रयोग किया जाता है। रीठा बालों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है और बालों को घाना को काला करने में इससे मदद मिलती है। जिन किसानो ने इसकी खेती की है उनके अनुसार रीठा की फसल आसानी के साथ में पैदावार देती है और इसमें ज्यादा मेहनत की जरुरत भी नहीं होती।

रीठा के फलों को सुखाकर फिर उनका इस्तेमाल साबुन बनाने के काम भी भी लिया जाता है। इसके अलावा डिटर्जेंट बनाने और कंडीशनर बनाने में भी रीठा का इस्तेमाल बहुत अधिक मात्रा में किया जाता है। दवाओं की बात करें तो जिन लोगो को अस्थमा की बीमारी है उनके लिए तो रीठा रामबाण इलाज है और अस्थमा की दवाओं में रीठा का इस्तेमाल किया जाता है।

इसके अलावा अगर किसी ने जहर निगल लिया है तो उसके लिए भी रीठा बहुत काम में आता है। जहाज निगलने वाले व्यक्ति को रीठा के फल को पाई में उबालकर पिलाने से उसको बहुत अधिक मात्रा में उल्टियां आती है और उल्टियों के जरिये जहर बाहर आ जाता है। अस्थमा के रोगी अक्सर रीठा के फल को पीसकर उसको सूँघते है जिससे उनको इस बीमारी में आराम मिलता है।

रीठा की खेती से कितनी कमाई होती है

अगर आप रीठा की खेती करना चाहते है तो आपको बता दें की आपके एक एकड़ खेत में लगभग 100 पेड़ रीठा के लगाए जा सकते है। इन 100 रीठा के पेड़ों से आपको काफी अधिक पैदावार मिलती है। रीठा का मार्किट में मौजूदा समय में रेट 100 रूपए किलोग्राम के आसपास है और ये रेट यहीं बरकरार रहता है।

रीठा के पौधा लगाने के बाद में चार साल के बाद में फल देने लगता है और इससे किसान भाई एक एकड़ के खेत में आसानी के साथ में 8 से 10 लाख रूपए तक की कमाई कर सकते है। आपको बता दें की रीठा की खेती में आप इसके साथ में दूसरी पारम्परिक खेती को भी आसानी के साथ में कर सकते है और उससे भी कमाई कर सकते है।

Share This Article
By Subham Morya Author
Follow:
मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।
Leave a comment