सोलर पम्पसेट लगवाने के लिए सरकार दे रही है 95 फीसदी सब्सिडी, ऐसे मिलेगा लाभ, देखें

Subham Morya
Subham Morya - Author

नई दिल्ली: Solar Pump Set Yojana – किसान भाइयों के लिए सरकार की तरफ से बहुत सी योजना चलाई जा रही है जिसमे किसानो को सरकार की तरफ से अनुदान दिया जा रहा है। किसानो को इन सरकारी योजनाओं का लाभ जरूर उठाना चाहिये ताकि उनकी कृषि के कार्य आसानी से और सुचारु ढंग से चलते रहे।

सरकार की तरफ से किसानो को सोलर पंप लगवाने के लिए भी भारी भरकम सब्सिडी दी जा रही है। इसके लिए सरकार की तरफ से प्रधानमंत्री कुसुम सोलर योजना चलाई जा रही है। इस योजना के तहत सरकार देश के किसानो को सोलर पंप लगवाने के लिए 95 फीसदी तक की सब्सिडी प्रदान कर रही है। देखिये इस खबर में की आखिर कौन कौन किसान ले सकता है इस योजना का लाभ और इसके लिए कैसे आवेदन करना होगा।

सोलर पर पर कितनी सब्सिडी मिलती है

सरकार की तरफ से प्रधानमंत्री कुसुम सोलर योजना के तरफ किसानो को सोलर पंप लगवाने के लिए अधिकतम 95 फीसदी की सब्सड़ीय दी जा रही है। इसमें किसानो को सोलर पंप लगवाने की जो कुल लागत आती है उस पर सब्सिडी दी जा रही है। अगर सामान्य वर्ग का किसान इस योजना का लाभ लेना चाहता है तो उसको सरकार की तरफ से इस योजना के तहत 90 फीसदी का अनुदान दिया जा रहा है और वहीं पर अगर अनुसूचित जाती और जनजाति का कोई किसान इस योजना का लाभ लेना चाहता है तो उसको सरकार की तरफ से सोलर पंप लगवाने के लिए 95 फीसदी तक का अनुदान सरकार की तरफ से दिया जा रहा है।

इस योजना के तहत केंद्र सकरार और राज्य सरकार दोंनो की तरफ से किसानो को अनुदान दिया जाता है। योजना के तहत किसानो को 3HP, 5HP और 7.5 के सोलर पंप सरकार की तरफ से उपलब्ध करवाए जाते है। हालाँकि कुछ इलाकों में ये सोलर पंप हो सकता है काम ना करें क्योंकि उन इलाकों का पानी का स्तर बहुत गहरा है लेकिन जिन इलाकों में पानी का स्तर सामान्य है वहां के किसानो के लिए ये सोलर पंप वरदान साबित हो सकते है।

कुसुम सोलर पंप के लिए जरुरी शर्ते क्या हैं

सरकार की तरफ से कुसुम सोलर पंप योजना के लिए कुछ नियम और शर्तों को भी निर्धारित किया गया है ताकि जिन किसानो को इसकी जरुरत है उन्ही किसाओं को लाभ मिल सके। जिन किसानो के पास में ढाई एकड़ जमीन है उनको 3HP का सोलर पंप दिया जाता है। जिन किसानो के पास में ढाई एकड़ से लेकर पांच एकड़ तक भूमि है उनको 5HP का सोलर पंप सरकार की तरफ से दिया जाता है।

इसके साथ ही जिन किसानो के पास में पांच एकड़ से ज्यादा भूमि है उन किसानो को सकरार की तफ से साढ़े सात एचपी का सोलर पंप दिया जाता है। इसके इसके अलावा कुछ और भी नियम और शर्तें है जिनके बारे में आगे बताया गया है।

कुसुम सोलर पंप के लिए पात्रता नियम क्या हैं

सरकार की तरफ से इस योजना के लिए कुछ पात्रता नियम भी बनाये गए है ताकि जरूरतमंद किसानो को इस योजना का लाभ दिया जा सके। सबसे पहले तो जिन किसानो के खेतों में पारम्परिक बिजली की पहुँच नहीं हो पा रही है उन किसानो को इस योजना में शामिल किया गया है।

इसके साथ ही जो किसान पहले से ही किसी सरकारी योजना जैसे अटल सौर कृषि पंप योजना एवं मुख्यमंत्री सौर कृषि पंप का लाभ ले रहे है उन किसानो को इस योजना का लाभ देने से दूर रखा गया है यानि की इन किसानो को इस योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा।

सरकार की तरफ से जिन किसानो के खेत नहर, तालाब, नदी आदि के नजदीक है उन किसानो को भी इस योजना में शामिल किया गया है क्योंकि इन जगहों पर सोलर पंप बहुत बेहतरीन तरीके से काम करते है।

कुसुम सोलर पंप के लिए जरुरी दस्तावेज

सरकार की इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानो को कुछ दस्तावेज भी देने होते है ताकि किसी भी तरफ से फ्रॉड को रोका जा सके तो सही किसानो को इसका लाभ मिल सके। इसके लिए किसानो को आधार कार्ड, जाति प्रमाण पत्र, बैंक पासबुक फोटो, पासपोर्ट के आकार की तस्वीर, साझा भूमि मामले में 200 रुपये के बांड पर अन्य साझेदारों की तरफ से जारी अनापत्ति प्रमाण पत्र आदि शामिल है।

अगर आप किसान है और इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन करना चाहते है तो इसके लिए आपको इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर इसके बारे में और अधिक जानकारी हासिल करनी होगी। आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहां क्लिक करें। आपको बता दें की सरकार की योजनाओं के नियम और शर्ते समय समय पर बदलते रहते है इसलिए सभी किसान भाइयों से निवेदन है की आधिकारिक वेबसाइट पर एक बार सम्पूर्ण जानकारी को जरूर पढ़ें।

Share This Article
By Subham Morya Author
Follow:
मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।
1 Comment