मानसिक तौर पर परेशान करने या फ़ोन पर गाली देने पर कौन सी धारा के तहत कार्यवाही की जाती है

Subham Morya
Subham Morya - Author
Under which section, action is taken against mentally harassing or abusing on phone?

भारतीय दंड सहिंता में कुल 511 धारायें है और इन धाराओं को अलग अलग तरफ से जुर्म में अलग अलग सजाएँ देने का प्रधान किया गया है। इन 511 धाराओं में जुर्माना लगाने से लेकर फांसी की सजा देने तक की धारायें शामिल है। आज के समय में भी लोगों को कानून की इन धाराओं की अच्छे से जानकारी नहीं होने के चलते बहुत से लोगो बिना सोचे समझे भी जुर्म कर देते है और फिर उनको इसकी सजा मिलती है।

बहुत से लोग ऐसे भी हैं जिनकी प्रवर्ति ही जुर्म करने वाली होती है और वे लोग जानबूझ कर किसी को परेशान करने या फिर मानसिक तौर पर उसको अपांग करने की कोशिश करते है। इसके लिए भी भारतीय संविधान में कुछ धाराओं को शामिल किया गया है और उन धाराओं के तहत मुजरिम को सजा दी जाती है। चलिए जानते है की अगर कोई भी व्यक्ति किसी को मानसिक तौर पर परेशान कर रहा है तो उसको कौन सी धारा के तहत क्या सजा दी जाती है।

मानसिक तौर पर परेशान करने पर कौन सी धारा लगती है

किसी को भी मानसिक तौर पर परेशान करना जैसे किसी महिलाओं को उसके ससुराल में परेशान करना, उसके साथ में अच्छा बर्ताव नहीं करना और उसको बार बार गलत कमेंट करके परेशान करने की कोशिश करना, या फिर किसी भी व्यक्ति को या फिर व्यक्ति के द्वारा किसी को गलत इरादें से छूना, उसको राह चलते परेशान करना, उसके साथ में गलत व्यवहार करना आदि के चलते धारा 354 के तहत कार्यवाही की जाती है।

गलत कमेटं करने पर भारतीय दंड सहिंता की आई टी एक्ट की धारा 67 A के तहत पुलिस के द्वारा कार्यवाही की जाती है और इस धारा के तहत 5 साल की सजा या फिर जुर्माने का प्रावधान है। लेकिन ये पहली बार जुर्म करने पर मिलने वाली सजा है और अगर कोई इस जुर्म को दोबारा करता हुआ पकड़ा जाता है तो उसको 7 साल तक की सजा देने का प्रावधान है।

किसी को गाली देने पर कौन सी धारा लगती है

अगर आप किसी को गलत इरादे के साथ में गाली दे रहे है और उसको परेशान करने की कोशिश कर रहे है तो इसके लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 294 धारा बनाई गई है और इसके अनुसार ये एक दण्डनीये अपराध है। इस अपराध के तहत पुलिस सीआरपीसी की धारा 154 के अंतर्गत एफआईआर दर्ज करके उस व्यक्ति के खिलाफ एक्शन ले सकती है या फिर FIR भी दर्ज कर सकती है।

सीआरपीसी (CRPC) की धारा 154 किसी भी प्रकार के अपशब्द किसी के भी खिलाफ बोलने पर उक्त व्यक्ति के द्वारा शिकायत करने पर लगाई जाती है। इसके अलावा मोबाइल फ़ोन पर आप अगर किसी को गाली देते है तो आप पर पुलिस के द्वारा आईपीसी की धारा 294 (b) के तहत कार्यवाही की जाती है। ये भी एक दण्डनीये अपराध की श्रेणी में आता है।

Share This Article
By Subham Morya Author
Follow:
मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।
Leave a comment