Business Idea: अगर आपके पास है खाली जमीन तो तुरंत करें ये वाला बिज़नेस, होगा डबल मुनाफा

By
On:
Follow Us

नई दिल्ली: Business Idea – आज के समय मे जहां हर इंसान बिज़नेस के लिये जद्दोजहद कर रहा है और चाहता है कि उसका कोई एक ऐसा बिज़नेस सेट हो जाये जिसमे आमदनी अच्छी हो तो उसके लिये एक बेहतरीन बिज़नेस आईडिया हम आपके लिये लेकर आये है। ये बिज़नेस अगर आप करते है तो आपको इससे डबल कमाई होने वाली है और इसके साथ ही ये बिज़नेस इस समय डिमांड में भी चल रहा है।

इस बिज़नेस को शुरू करने के लिये आपके पास अपनी अगर कोई खाली जमीन है तो आप आसानी से कर सकते है। अगर जमीन नही है तो भी किसी की भी खाली जमीन को 5 या 10 सालों के लिये लीज पर लेकर भी अपना बिज़नेस शुरू कर सकते हैं। कैसे क्या करना है और बिज़नेस आईडिया क्या है इसके लिये देखिये आगे इस खबर में हमने पूरी जानकारी डिटेल में आपके लिये यहां दी है।

कौन सा बिज़नेस करना है?

आज के आर्टिकल में हम आपको जिस बेहतरीन बिज़नेस के बारे में बताने वाले हैं वो बिज़नेस मछली पालन और बतख पालन का है। आप ये दोनों बिज़नेस एक समय मे एक साथ ओर एक ही जगह पर कर सकते है। इसलिये इस बिज़नेस में आपको डबल लाभ भी मिलता है।

दोनों एक साथ करने के लाभ

अगर आप मछली पालन और बतख पालन का बिज़नेस एक साथ करेंगे तो इससे दोनों को एक दूसरे से सहायता मिल जाती है। बतख तालाब की सफाई का काम भी पूरा करता है और उसके अपशिष्ट पदार्थों से मछलियों का भोजन बन जाता है। इसके साथ ही मछलियों के संख्या में भी काफी बढ़ोतरी देखने को मिलती है। दोनों का एक साथ पालन करने से आपके मछली पालन के बिज़नेस में होने वाले खर्च का लगभग 50 फीसदी कम हो जाता है। इससे लागत कम और मुनाफा अधिक होता है।

सबसे पहले करें तालाब ओर बाड़े का निर्माण

बिज़नेस शुरू करने से पहले आपको अपने खेत मे एक तालाब का निर्माण करना होगा। तालाब के निर्माण के बाद आपको अपने पानी की भी टेस्टिंग करवानी होगी। क्योंकि अगर आपका पानी सही नही है तो मछलियों को उसमे जीवित रखने मुश्किल हो सकता है। पानी के ट्रीटमेंट के लिये आप अपने क्षेत्र के कृषि वैज्ञानिकों से संपर्क कर सकते है।

बत्तखों के लिये आपको तालाब के ऊपर ओर तालाब के आसपास में बाड़े का निर्माण करवाना होगा जिसमें आप बतख को रखेंगे। इसके साथ ही तालाब की गहराई लग है 2 मीटर के आसपास रखी जाती है। तालाब में चूने का इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि चुना तलहटी में जमा होकर पानी को जमीन के अंदर जाने से रोकता है।

बतख ओर मछली की नस्लों का चुनाव

सबकुछ रेडी होने के बाद में अब बारी आती है आपको नस्लों का चुनाव करना होगा। आप अपने इस बिज़नेस में कौन सी किस्म की मछली का पालन करना कहते है और कौन सी नस्ल के बतख अपने फार्म में रखना चाहते है।

बतखों में आपको कई प्रजाति देखने को मिलती है जैसे कैम्पबेल, इंडियन रनर, नागेश्वरी, सिलहेट मेटे, कम सिटी बतख, रेड्डी सलडक ओर इंडियन स्पॉट बिल डक आदि। भारत मे इन बतखों को सबसे ज्यादा पालन किया जाता है।

मछली और बतख बनते है एक दूसरे का सहारा

अगर आप इन दोनों बिज़नेस को एक साथ करते है तो इसके आपको बहुत सारे लाभ देखने को मिलते हैं। बतख तालाब में से उन सभी कीटों को खा लेता है जो आपके मछली पालन में हानिकारक होते है। इसके साथ ही बतखों के पानी मे भृमण करने की वजह से तलाब के पानी के अंदर ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ जाती है।

इसके अलावा बतखों के मल ओर मूत्र से मछलियों के लिये चारे के प्रबंध हो जाता है जिसके कारण आपको अतिरिक्त भोजन मछलियों को देने के लिये ज्यादा खर्च नही करना पड़ता। बतख की खाने में भी मछलियों के कारण आपको केवल 40 फीसदी की ही प्रबंध करने का खर्चा आता है।

Subham Morya

मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।

For Feedback - nflspice@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Leave a Comment