बड़ी खबर – डाकघर में बदले निकासी के नियम, इनको होगा ज़्याफ़ा फायदा, देखें

Subham Morya
Subham Morya - Author
Big news - Change the withdrawal rules in the post office, people will get more benefits, see

नई दिल्ली: देश में करोड़ों लोग हैं जो डाकघर में अपना बचत खाता खोलते हैया फिर एफडी खोलकर निवेश करते है। लेकिन इन बचत खातों में हम जो भी पैसा निवेश करते है उसकी इस सिमित अवधी होती है जब हम सभी बेनिफिट के साथ में अपने पैसे की निकासी कर सकते है। लेकिन डाकघर में निकासी के कुछ नियमों में बदलाव किया गया है।

डाकघर में कौन सी योजनाओं पर किस तरफ की निकास करने पर अब डाकघर के नियम बदले गए है इसके लिए आपको ये आर्टिकल आखिर तक जरूर पढ़ना चाहिए ताकि आपको नियम मालूम हो और आप ज्यादा से जायदा लाभ उठा सकें।

कौन सी स्कीम में डाकघर ने बदले हैं नियम

डाकघर में इस स्कीम है जिसका नाम है सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (Senior Citizen Savings Scheme (SCSS) और डाकघर की तरफ से इस स्कीम में निकासी के नियमों को लेकर कुछ बदलाव किये गये है।

इस स्कीम में मच्योरिटी से पहले निकासी के नियमों में डाकघर ने बदलाव कर दिए है। आपको बता दें की इकोनॉमी टाइम्स में छपी एक खबर के अनुसार अब आगे से सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (Senior Citizen Savings Scheme (SCSS) में खाता खोलने के बाद अगर आपने चाहते है की पैसे की निकासी करनी है तो आपको एक साल से पहले निकासी के लिए 1 फीसदी का शुल्क डाकघर को देना होगा।

अब आगे से डाकघर की सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (Senior Citizen Savings Scheme (SCSS) में एक साल से पहले निकासी पर ब्याज भी नहीं मिलेगा और साथ में एक फीसदी देना होगा। लेकिन इससे पहले डाकघर की इस स्कीम में एक साल से पहले ही निकासी करने के लिए आपको कोई शुल्क नहीं देना होता था बल्कि आपको ब्याज नहीं दिया जाता था।

डाकघर की सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (Senior Citizen Savings Scheme (SCSS) क्या है

डाकघर की तरफ से चलाई जा रही सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (Senior Citizen Savings Scheme (SCSS) में जैसा की नाम से ही पता चलता है की ये बुजुर्गों के लिए चलाई गई है। इस स्कीम में 60 या इससे अधिक आयु का कोई भी भारत का स्थाई नागरिक निवेश कर सकता है।

लेकिन आम आदमी के अलावा अगर कोई सर्विस करने वाला व्यक्ति वीआरएस से आया है तो वो 55 साल की आयु में ही अपना खाता इस स्कीम में खोल सकता है। इसके साथ ही डिफेन्स सर्विस में कार्यरत कर्मचारी रिटायर के बाद 50 साल की आयु में ही इस स्कीम में अपना खाता खुलवा सकते है।

आपको बता दें की डाकघर की इस सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (Senior Citizen Savings Scheme (SCSS) में कम से कम 1000 रूपए के निवेश के साथ ही खाता खोला जा सकता है और अधिकतम निवेश की राशि 30 लाख रखी गई है। इस स्कीम में खाता खोलकर निवेश करने वाले लोगों को 80C के तहत टैक्स में राहत दी जाती है। ग्राहकों को साकघर की तरफ से इस स्कीम में 8.2 फीसदी ब्याज दिया जाता है जो की काफी आदिक है। बैंको की तरफ से इतना अधिक ब्याज नहीं दिया जाता और यही कारण है की लोग आज भी डाकघर में निवेश करना ज्यादा पसंद करते है।

Share This Article
By Subham Morya Author
Follow:
मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।
Leave a comment