Paytm और PhonePe से आसानी से भर पाएंगे हॉस्पिटल में 5 लाख का बिल, बस करना होगा ये काम

By
On:
Follow Us

नई दिल्ली: Hospital Bill Using UPI – एनपीसीआई ने 10 जनवरी तक शैक्षिक सेवाओं को पूरा करने हेतु तथा अस्पताल में इलाज कराने के लिए यूपीआई के द्वारा होने वाले लेनदेन की सीमा को बढ़ा दिया है, दरअसल आरबीआई ने घोषणा की थी, कि अस्पतालों तथा शैक्षिक कार्यों के लिए लेनदेन की सीमा को बढ़ाई जाए, जिसका एनपीसीआई के द्वारा अब पालन किया जाएगा, जिससे आप 5 लाख रुपए तक के बिल का भुगतान कर सकते हैं।

एनपीसीआई ने बयान जारी करते हुए कहा, की 5 लाख रूपए तक की सीमा केवल वेरीफाइड मर्चेंट पर ही लागू होगी, उसने बैंक, यूपीआई ऐप्स और व्यापारियों से अनुरोध करते हुए कहा है, कि 10 जनवरी 2024 तक इसका अनुपालन सुनिश्चित करें। आपको बता दे कि मौजूदा समय में यूपीआई लेनदेन की सीमा 1 लाख रुपए तक है।

MPC बैठक में लिया गया था फैसला

MPC अर्थात मौद्रिक नीति समिति की बैठक के दौरान इस बदलाव की घोषणा की गई थी, जिससे आम जनता को लाभ दिया जा सके, आपकी जानकारी के लिए बता दे, कि साल 2023 में यूपीआई प्लेटफार्म ने 100 बिलियन का आंकड़ा पार किया था और पूरे साल लगभग 118 अरब लेनदेन हुए, वही पिछले साल 2022 में 74 बिलियन लेनदेन हुआ था, यानी इसमें कुल 60 फ़ीसदी की वृद्धि हुई है, वही साल 2023 में कुल लेनदेन 182 लाख करोड़ रुपए का था तथा साल 2022 में कुल लेनदेन की संख्या 126 लाख करोड रुपए था, यानी इस प्रकार इसमें 44 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई।

भारतीय रिजर्व बैंक अर्थात आरबीआई ने यूजर्स को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया है, क्योंकि आज के समय में डिजिटल लेनदेन बढ़ गया है और लोग ऑनलाइन भुगतान करना अधिक पसंद करते हैं, क्योंकि लेनदेन की सीमा काफी कम थी और खासतौर पर अस्पतालों में इसकी जरूरत अधिक दिखाई जा रही थी, इसलिए आरबीआई ने एनपीसीआई को लेनदेन की सीमा को बढ़ाने का निर्देश दिया था और अब इसका अनुपालन भी शुरू कर दिया गया है।

Subham Morya

मैं शुभम मौर्या पिछले 2 सालों से न्यूज़ कंटेंट लेखन कार्य से जुड़ा हुआ हूँ। मैं nflspice.com के साथ में मई 2023 से जुड़ा हुआ हूँ और लगातार अपनी न्यूज़ लेखन का कार्य आप सबसे के लिए कर रहा हूँ। न्यूज़ लेखन एक कला है और सबसे बड़ी बात की न्यूज़ को सही ढंग से समझाना ही सबसे बड़ी कला मानी जाती है और इसी कोशिश में इसको लगातार निखारने का प्रयास कर रहा हूँ।

For Feedback - nflspice@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Leave a Comment